सेहत

पनता-भात: मुख्य भोजन के साथ- साथ पेट के अल्सर का दवा भी है यह

पंकज झा

बिहार के पूर्णिया जिला में बायसी अनुमंडल है,इस अनुमंडल के चार प्रखंड बायसी,बैसा अमौर व डगरुआ है.यह इलाका सूवे में सूरजापुरी इलाके के रूप में जाना जाता है.इस इलाके की खासियत यह है कि सूरजापुरी बिरादरी के लोगों का रहन-सहन,भाषा व खान-पान राज्य से बिल्कुल भिन्न है.यहां पनता भात(बासी चावल)बड़े चाव से खाने की परंपरा  रही है.यह कहना कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी कि यहां के लोग किसी मजबुरी में नहीं बल्कि बासी खाने के लिए ही चावल बनाते हैं.अहम सवाल है कि आखिर यहां के लोग क्यों पनता भात (बासी चावल) खाना पसंद करते हैं?इस सवाल का जबाव शायद इन लोगो के पास भी नहीं था,लिहाजा हम इस सवाल का जवाब जबाव ढूंढने स्वास्थ्य विशेषज्ञों  के पास गये.

स्वास्थ्य विशेषज्ञों की राय: 

 बासी चावल खाते हैं तो इससे कोई नुकसान नहीं बल्कि फायदे होते हैं.स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार चावल खाने से क्या क्या फायदे हो सकते हैं.  

बासी चावल खाने के फायदे:

* पेट में अल्सर की समस्या है तो आपको बासी चावलों का सेवन अवश्य करना चाहिए. बासी चावल खाने से अल्सर का जल्दी ही घाव ठीक हो जाता है.

* बासी चावल की तासीर ठंडी होने के कारण ये हमारे शरीर के तापमान को कम करने का काम करता है.

* बासी चावल में भरपूर मात्रा में फाइबर मौजूद होता है. कब्ज की समस्या से आराम दिलाने का काम करता है.

* बासी चावल में भरपूर मात्रा में न्यूट्रीएंट्स और मिनरल्स पाए जाते हैं जो हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करते हैं.

Related posts

बिहार:बेटे-बेटियों के लिंगानुपात में किशनगंज व वैशाली सहित 17 जिले अव्वल,पटना व मुजफ्फरपुर फिसड्डी

Pankaj Jha

बिहार:स्वाइन फ्लू के दस्तक से हड़कंप, जारी है कोरोना के बाद वायरल बुखार का कहर

Pankaj Jha

पूर्णिया में वायरल फीवर के मरीजों संख्या हुई143,स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

Pankaj Jha

Leave a Comment