राज्य

पूर्णिया:महानंदा कनकई व परमान नदियों के जलस्तर में वृद्धि, 150 गांवों पर मंडरा रहा है विस्थापन का खतरा

राॅयल बिहार,सेंट्रल डेस्क:पूर्वोत्तर बिहार में गुरुवार से  हो रही बारिश से इलाके की कई नदियां उफनाने लगी है. पूर्वोत्तर बिहार के पूर्णिया जिले के बायसी अनुमंडल क्षेत्र के महानंदा, कनकई व परमान नदियों में जल स्तर बढने का सिलसिला निरंतर जारी है.इसके साथ ही निचले इलाके में बाढ़ का पानी धीरे-धीरे फैलता जा रहा है.वहीं दूसरी ओर नदियों में कटाव भी तेज हो चुका है.लिहाजा स्थानीय लोगों में संभावित बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है .

तीन प्रखंडों के लिए है अभिशाप:

इस अनुमंडल के बायसी,अमीर व बैसा प्रखंड के लोगों के  लिए कनकई, महानंदा व परमान नदी किसी अभिशाप से कम नहीं है.इन तीनो नदियों की मार से उपजे विस्थापन के दर्द को हर साल झेलना इनकी नियति बन चुकी है.बायसी के ताराबाड़ी पंचायत के मुखिया नजमूल होदा की माने तो बाढ़-बरसात के मौसम में हमारे पंचायत के लोग लंबे समय तक गांव में ही कैद हो जाते हैं .अमौर प्रखंड के हरिपुर निवासी मौलाना इस्माइल ने बताया कि सैलाब से पूर्व ही इस गांव के लोग सड़क के किनारे अपना ठिकाना बना लेता है .

150 से अधिक गांवों को नदियां बनाती है शिकार:

बिहार के पूर्णिया जिले के बायसी अनुमंडल हर साल तीन-तीन नदियों का कहर झेलने को अभ्यस्त हो चुकी है.यहां के लोग एक त्रासदी से उभर नहीं पाता है कि तभी दूसरी त्रासदी इनके सपनों को एक बार फिर बहा कर ले जाती है.इलाके के जनप्रतिनिधि यहां के लोगों के स्थायी दर्द का इलाज तो दूर,इसी दर्द को अपनी वोट बैंक का आधार बना कर राजनीति को चमका रहे हैं.इलाके से होकर गुजरने वाली तीनों नदियां अनुमंडल के अमूमन 150 से अधिक  गांवों को अपना शिकार बनाती रही है.

हजारों लोग होते हैं बेघर:

जून के अंतिम सप्ताह से ही यहां के लोगों को संभावित बाढ़ का खतरा सताने लगता.लिहाजा बाढ़ के पूर्व ही लोग ऊंचे सुरक्षित स्थान तलाश कर अपना आशियाना बना लेते हैं .संभावित खतरे के मद्देनजर इस बार भी यहां के लोग अभी से ऊंचे स्थानों में अपना आशियाना बनाना शुरू कर दिया है.जिसमें बायसी के ताराबाड़ी,आसजा मबैया, चोपड़ा, शादीपुर भूतहा,चरैया,श्रीपुर मल्लाह टोली,गांगर, बनगामा, पुरानागंज, मीनापुर व खपड़ा पंचायत अमौर के पूर्वी भाग के तेलंगा, खाड़ी हाट, लाल टोली रंगरैया, नितेंदर, ज्ञानडोभ व बैसा प्रखंड के के दर्जनों गांव शामिल है

कहते हैं अधिकारी:

नदियों के जलस्तर में वृद्धि हो रही है,प्रशासन की ओर से इस पर लगातार नजर रखी जा रही है.

अमरेंद्र कुमार पंकज,एसडीओ, बायसी ,पूर्णिया

Related posts

बिहार:अजब प्रेम की गजब कहानी, छठी कक्षा की छात्रा को भगा ले गया 35 साल का टीचर

Pankaj Jha

Bihar elaction:पप्पु यादव ने बायसी के लोगों से किया वादा-‘सरकार बनी तो जन्म लेने वाली बेटियों को जन्म के बाद दिया जायेगा एक लाख रुपये’

Pankaj Jha

पूर्णिया:बायसी में माननीय कह रहे हैं-‘सारे शिकवे-गिले भूला कर मिलो’,मतदाता-‘ना रे बाबा ना…’

Pankaj Jha

Leave a Comment