राजनीति

जीतन राम मांझी ने छेड़ा निजी क्षेत्र में आरक्षण का राग,ट्वीटर पर कही ये बातें

PATNA: हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष एवं पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी ने एक बार फिर आरक्षण का मुद्दा छेड़ दिया है। उन्‍होंने केंद्र सरकार से निजी क्षेत्र में अनुसूचित जाति एवं जनजाति को आरक्षण दिए जाने की वकालत की है। इसको लेकर उन्‍होंने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को संबोधित करते हुए एक ट्वीट किया  है। 

अपने ट्विटर हैंडल पर लिखी ये बात 

अपने ट्वीट में उन्‍होंने लिखा है कि रविशंकर प्रसाद जी, आप देश को बेशक आउटसोर्सिंग का हब बनाइए। हम इसका स्‍वागत करेंगे। लेकिन प्राइवेट सेक्‍टर और आउटसोर्सिंग में आरक्षण नहीं होने से देश के अनुसूचित जाति-जनजाति एवं अन्‍य जातियां सीधे प्रभावित होंगी। इसलिए आग्रह है कि आउटसोर्सिंग में भी आरक्षण का प्रावधान सुनिश्चित करवाइए। 

अपने बयानों से सुर्खि‍यां बटोरते रहे हैं मांझी 

बता दें कि NDA की सहयोगी दल हम के मुखिया मांझी पहले भी कई बार अपने बयानों से सुर्खियों में आ चुके हैं। वे भाजपा और केंद्र सरकार पर निशाना साधते रहे हैंं। कुछ दिन पहले कोरोना टीका के सर्ट‍िफिकेट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्‍वीर को लेकर उन्‍होंने आपत्ति जताई थी। अब एक बार फिर उनके बयान से राजनीति गरमाने के आसार हैं।   बिहार में राजद भी आरक्षण के मुद्दे पर मुखर है। पार्टी के नेता और पूर्व डिप्‍टी सीएम तेजस्‍वी यादव भी निजी क्षेत्रों में आरक्षण की मांग कर चुके हैं। उनकी पार्टी आरक्षण और जाति आधारित जनगणना की मांग लंबे समय से उठाती रही है। केद्र सरकार पर भी इस मुद्दे को लेकर पार्टी हमलावर रही है। 

मालूम हो कि दो दिन पूर्व आइटी मिनिस्‍टर रविशंकर प्रसाद ने टेलीकाॅम सेक्‍टर के लिए गाइडलाइन जारी की थी।उन्‍होंने इसे देश के Telecom Sector के विकास की दिशा में क्रांति बताया था।  उन्‍होंने कहा कि अगले कुछ वर्षों में भारत की बीपीओ इंडस्‍ट्री करीब चार लाख करोड़ की हो जाएगी। भारत आउटसोर्सिंग का बड़ा हब बनेगा। 

Related posts

पंचायत चुनाव:बायसी में चुनावी सुगबुगाहट हुई तेज,मीट-मुर्गा परोसे जाने की होने लगी प्लानिंग

Pankaj Jha

सीएम नीतीश कुमार विधानसभा सत्र को किया संबोधित,कहा-21 लाख लोगों के खाते में दिया गया एक हजार रुपए

Pankaj Jha

बिहार विधानसभा में सुशांत की मौत पर चर्चा,सरकार से सीबीआई जांच की मांग

Pankaj Jha

Leave a Comment