क्राइम

दरभंगा ब्लास्ट: आतंकी नासिर का यह था खतरनाक साजिश,जानकर हर कोई रह जायेगा सन्न

PATNA: दरभंगा ब्लास्ट मामले में गिरफ्तार आतंकी नासिर ने एनआईए पूछताछ के दौरान जो राज खोले हैं, उसे जानकर सन्न रह जाएंगे आप। आतंकी नासिर ने पूछताछ में बताया कि उसकी एक चूक की वजह से बड़ा धमाका नहीं हो सका। अगर वह चूक नहीं होती तो पटरी पर दौड़ती ट्रेन में ही बड़ा धमाका होता। पूरी ट्रेन को ही उड़ाने की साजिश थी।

चलती ट्रेन उड़ाने की थी योजना

आतंकी नासिर ने एनआईए से कहा कि सिकंदराबाद दरभंगा ट्रेन को उड़ाने की साजिश थी। नासिर की माने तो उसने पेपर की जगह हार्ड बोर्ड रख दिया था जो एक बड़ी चूक हुई। हार्ड बोर्ड की वजह से ही केमिकल को मिलने में देरी हुई, जिसकी वजह से चलती ट्रेन में धमाका नहीं हो सका।

पाकिस्तान से मिली थी ट्रेनिंग

आतंकी नासिर ने एनआईए की पूछताछ में ये भी कहा कि ट्रेन में रखे बम को काजीपेट में ब्लास्ट होना था, लेकिन ये ब्लास्ट दरभंगा के प्लेटफॉर्म नंबर-1 पर हुआ। इसके साथ ही उसने स्वीकार किया है कि पाकिस्तान के इकबाल काना से उसे बम बनाने की ऑनलाइन ट्रेनिंग मिली थी। नाइट्रिक और सल्फ्यूरिक एसिड से उसने यह बम बनाया था। दोनों एसिड के मिलने के बाद ही धमाका होना था। लेकिन हार्ड बोर्ड की वजह से दोनों केमिकल के मिलने में देरी हुई लिहाजा ट्रेन में ब्लास्ट नहीं हो सका।

इन स्टेशनों के बीच होना था धमाका

दरअसल नाइट्रिक एसिड और सल्फ्यूरिक एसिड के पार्टिशन के बीच एक कागज रखना था, जो दोनों एसिड पेपर को जलाते और फिर दोनों एसिड के मिलने के बाद जोरदार धमाका होता। इकबाल ने दोनों एसिड के पार्टिशन में कागज रखने को कहा था, ताकि रामागुंडम और काजीपेट स्टेशन के बीच धमाका हो सके. चलती ट्रेन में धमाका करने की साजिश थी, लेकिन नासिर से चूक हो गई। उसने एसिड के बीच के पार्टिशन में कागज की जगह हार्ड बोर्ड रख दिया, जिसकी वजह से चलती ट्रेन में धमाका नहीं हो सका। दोनों एसिड दरभंगा स्टेशन पर पहुंचने के बाद मिले जिसके बाद ही धमाका हो सका।

Related posts

पूर्णिया:अमौर में सर्व शिक्षा अभियान के डीपीओ को ग्रामीणों ने बनाया बंधक,ग्रामीणों ने निरीक्षण में तीन लाख रुपये रिश्वत लेने का लगायाआरोप

Pankaj Jha

यूपी:मुजफ्फरनगर में सात साल की बच्ची के साथ सामुहिक दुष्कर्म

Pankaj Jha

बिहार:पूर्णिया के जिला कृषि पदाधिकारी घुस लेते गिरफ्तार, खाद व्यवसायी के शिकायत पर निगरानी विभाग की कार्रवाई

Pankaj Jha

Leave a Comment